Wednesday, April 17, 2013

पुराने सम्बन्ध; नए रिश्ते!

                                                          Picture courtesy - Google Images

आज कुछ पुराने सम्बन्ध
तोडना चाह रहा हूँ,

वो घड़ी जो बीते समय पर टिकी है
वो तसवीरें जो ग़म में डूबे पलों की याद दिलाती हैं
वो पल जो आँसुओं में नहाये थे

वो ख्याल जो दीमाग में परेशानी का मकड़ी जाल बनाये हुए थे

वो दिन जो इतने खालीपन में रमें थे की
अपना वजूद भी कायम ना कर पाये थे

वो आदते जो रास्ते का रोड़ा बन
सफर को मुश्किल और बेमजा बना रहीं हैं;

सोचता हूँ आज नए रिश्ते जोड़ लूँ,

एक समझ की ओढ़नी 
जो फजूल बातों को बाहर ही रक्खे,

साहस का टिकाऊ मफलर
जो हर हवा का सामना करा दे,

उमंग के ऊन से बुना कोट
जो निखारे मेरी शकसियत को,

मोबाइल पे लगा रिमाइंडर
जो इस बात का एहसास दिलाये
की मेरे टाइम की पूँजी घटती जा रही हँ,

हौंसले और विश्वास का नया जोड़ा
जो मेरे मन को सवारे, मेरी सोच को सुन्दर रखे,

और जोश, जिन्दादिली के जेवर
जो मेरी ज़िन्दगी को अमूल्य बना दें। 

                                         Picture courtesy - Hidlight, Ziyafot, deviantart.com


1 comment:

grace jolliffe said...

HI there, I saw your notice on Linked in. This is a fascinating blog and I love the colours and images. Congratulations!
I hope you will visit my sites - I have three at the moment - for creative writing advice, exercises, information and tips visit me at www.practicalcreativewriting.com
For children's stories pop over to www.coolkidsstories.com and if like me you enjoy gardening then visit me at www.gracelikestogarden.com
Best of luck with your work - Grace